भारतीय नारी पर निबंध | Essay on Indian omen In Hindi

भारतीय नारी पर निबंध | Essay on Indian omen In Hindi

भारतीय नारी पर निबंध | Essay on Indian Women In Hindi

भारतीय नारी पर निबंध | Essay on Indian Women In Hindi:- नमस्कार दोस्तों, आज के निबंध में आपका स्वागत है, आज हम भारतीय महिलाओं के बारे में जानेंगे। इस निबंध, लेख में, कल और आज की भारत की महिलाएं प्राचीन काल बनाम वर्तमान की स्थिति पर विस्तार से चर्चा करेंगी।

प्राचीन काल से ही नारी को भारतीय समाज में एक विशेष स्थान दिया गया है। हिंदू शास्त्रों में महिलाओं को देवी के रूप में पूजा जाता है। हमारे साहित्य में भी नारी की प्रशंसा की गई है।

ऐसा माना जाता है कि जहां नारी शक्ति का वास होता है वहां भगवान का वास होता है। इस प्रकार सम्पूर्ण सन्दर्भ में नारी के स्थान का आदर एवं सम्मान होता था।

Essay on Indian Women In Hindi
प्राचीन ग्रंथों के ये कथन आज भी महत्वपूर्ण हैं। उस दौर में जितनी प्रासंगिक थी, आज भी उतनी ही प्रासंगिक है। क्योंकि स्त्री के बिना पुरुष का अस्तित्व संभव नहीं है। 

समाज की इस आधी आबादी को नजरअंदाज कर कोई भी देश या समाज तरक्की नहीं कर सकता। नारी के प्रति हीन भावना और अनादर की भावना ही समाज को गर्त में ले जाती है।

वैदिक काल से ही भारतीय नारी का समाज में उच्च स्थान था। सीता, सती-सावित्री, अनसूया, गायत्री आदि सैकड़ों महिलाओं के नाम आज भी प्राचीन काल की बुद्धिमान महिलाओं में बड़े सम्मान से लिए जाते हैं। 

Essay on Indian Women In Hindi उस समय के समाज में पूजा से लेकर हर कार्य में महिलाओं की उपस्थिति अनिवार्य मानी जाती थी।

भारत में विदेशी आक्रमणों के बाद महिलाओं की स्थिति में भारी गिरावट आई। यह महिलाओं की स्थिति का सबसे भयानक दौर था। देवी के रूप में पूजनीय महिला को हीन और भोग की वस्तु माना जाता था।

भारत में ब्रिटिश काल के समय तक यह स्थिति और बिगड़ती चली गई और इस काल में भारतीय नारी में अबला का विशेषण जोड़ा गया, उसके सम्मान को एक आश्रित प्राणी की तरह कलंकित किया जा रहा था।

"अबला जीवन हाय तुम्हारी यही कहानी,
आँचल में है दूध और आँखों में पानी।" 

इन पंक्तियों के माध्यम से कवि मैथिलीशरण गुप्त ने आधुनिक भारतीय नारी की संवेदना को यथार्थ रूप में व्यक्त किया है।

भारत में विदेशी आक्रमणों के कारण समाज में अनेक बुराइयों का जन्म हुआ। इसका सबसे बुरा असर महिलाओं पर पड़ा। इन आक्रमणकारियों की गंदी निगाह हमेशा महिलाओं की पहचान पर रहती थी।

Essay on Indian Women In Hindi
आजाद पंछी को काटने के बाद जिस तरह से वह आश्रित जीवन जीने लगती है, वह ठीक एक मध्यकालीन महिला की स्थिति थी। 

उन्हें पूरी तरह से पुरुष पर निर्भर बना दिया और बाल विवाह, दहेज, सती जैसी इन प्रथाओं से बांधकर उनका जीवन घर की चारदीवारी तक सीमित कर दिया।

पुरुष प्रधान समाज की इस मानसिकता ने लोगों के मन में ऐसा घर बना लिया है कि स्त्री को पुरुष की अनुयायी मान लिया गया।

रानी लक्ष्मीबाई और चांद बीबी कुछ ऐसे नाम हैं जिन्होंने तत्कालीन पुरुष प्रधान समाज की संकीर्ण मान्यताओं को छोड़ इतिहास में अपना नाम दर्ज कराया।

Essay on Indian Women In Hindi
पुनर्जागरण के बाद, महिला शिक्षा में तेजी से वृद्धि हुई, और इसका प्रभाव भारत के स्वतंत्रता संग्राम में देखा जा सकता है, जिसमें बड़ी संख्या में महिला शक्ति ने भाग लिया।

21वीं सदी का यह युग महिलाओं के लिए प्रगति और उनके सम्मान और अधिकारों की प्राप्ति का युग है। आज की महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है।

इस संघर्ष में कई समाज सुधारक सरकारों का महत्वपूर्ण योगदान था। समाज और देश के समुचित विकास के लिए महिलाओं की प्रगति का बहुत महत्व है।

यह महिलाओं के अधिकारों और समान अधिकारों की लड़ाई का नतीजा है कि आज हर क्षेत्र में महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर समाज और देश की प्रगति में अपनी भूमिका निभा रही हैं। 

उसने अपनी शक्ति और कौशल से साबित कर दिया है कि वह सक्षम नहीं बल्कि एक योग्य है। Essay on Indian Women In Hindi

वर्तमान समय में भारत में महिलाओं की स्थिति में हुए अभूतपूर्व परिवर्तन को देश के सामाजिक विकास का सूचक कहा जा सकता है। 

अगर इसी तरह स्त्री-पुरुष मिलकर लोगों के उत्थान के लिए काम करते रहे तो इसमें कोई शक नहीं कि हमारा भारत एक बार फिर शिखर की सफल यात्रा कर पाएगा।

भारतीय नारी पर निबंध हिंदी में | Essay on Indian Women in Hindi

भारतीय नारी पर निबंध हिंदी में | Essay on Indian Women in Hindi:- भारतीय समाज में प्राचीन काल से ही नारी को महत्व दिया जाता रहा है। आज एक महिला ने अपने कार्यों के लिए प्रसिद्ध सभी महापुरुषों और देवताओं को जन्म दिया था। यानी नारी का हमारे जीवन में विशेष महत्व है।

भारतीय महिलाओं को देवी के समान माना जाता है। और वास्तव में यह देवी है। हमारे सर्वांगीण विकास में महिलाओं की अहम भूमिका होती है।

हमारे ग्रंथों में भी महिलाओं को विशेष महत्व दिया गया है। जहां महिलाओं की पूजा की जाती है। वहां देवता निवास करते हैं। यानी देवता महिलाओं को अपने से ऊपर मानते हैं।

महिलाओं की स्थिति में लगातार बदलाव आ रहा है। एक तरफ आजादी से पहले हमारे देश में महिलाओं की स्थिति बहुत दयनीय थी। और सभी महिलाएं अनपढ़ थीं, लेकिन आज आधी से ज्यादा महिलाएं शिक्षित हैं।

Essay on Indian Women In Hindi
ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी शिक्षा का अभाव है। महिलाओं के खिलाफ अपराध आज भी कम नहीं हो रहे हैं। लेकिन सरकार की जागृति और महिलाओं की आत्मनिर्भरता उनकी समस्याओं का समाधान कर रही है। आज की महिलाओं को पुरुषों से ज्यादा खास मौके दिए जा रहे हैं।

दहेज प्रथा, बाल विवाह और उत्पीड़न जैसी कई समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। भारतीय नारी आज भी अनुशासित जीवन जी रही है। महिलाओं के घूंघट को खत्म करने के बाद भी महिलाओं को घूंघट में देखा जाता है, जो उनके स्वभाव को दर्शाता है।

Essay on Indian Women In Hindi
घर का सारा काम महिला ही करती है। और बच्चों को खाना खिलाना, सबके लिए खाना बनाना, सबको खिलाना, सुबह सबसे पहले उठना, घर का काम करना और शाम को सबसे आखिर में सोना महिलाओं के मुख्य काम हैं।

प्राचीन काल की महिलाएं अशिक्षित होने के कारण आत्मनिर्भर नहीं थीं। इससे तलाक जैसे अपराध लगातार होते रहते थे। महिलाओं का उत्पादन आर्थिक रूप से किया जाता था।

आधुनिक महिलाओं पर नजर डालें तो उनमें काफी बदलाव आया है। आज की महिलाएं शिक्षा के मामले में पुरुषों से बेहतर कर रही हैं। और स्वतंत्र जीवन व्यतीत कर रहे हैं। इससे कई अपराध अपने आप कम हो गए हैं।

Essay on Indian Women In Hindi
लेकिन आज की महिलाएं शिक्षा से भरी हुई हैं। इसलिए वह दिन-रात काम करने की बजाय अपनी पढ़ाई पर भी ध्यान देती हैं। इससे आज की नारी शिक्षित हो गई है।

औरत खुद से ज्यादा दूसरों के बारे में सोचती है। वह अपने बच्चों और परिवार के लिए कई यातनाएं सहने के लिए तैयार है। महिला सिर झुकाकर परिवार से घुलती-मिलती रहती है।

नारी हमारे जीवन का आधार है। राष्ट्रकवि मैथिलीशरण ने महिलाओं के लिए एक पंक्ति प्रस्तुत की है:-

"अबला जीवन हाय तुम्हारी यही कहानी,
आंचल में है दूध और आँखों में पानी।"

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.