पुस्तकों का महत्व क्या है निबंध | पुस्तक का हमारे जीवन में क्या महत्व है?

पुस्तकों का महत्व क्या है निबंध | पुस्तक का हमारे जीवन में क्या महत्व है?

पुस्तक का महत्व निबंध हिंदी में:- पुस्तक मानव जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है और पुस्तकों के माध्यम से ही व्यक्ति ज्ञान प्राप्त करता है। यहां हम हिंदी में निबंध (Importance of books) के महत्व को साझा कर रहे हैं।

इस निबंध में हमारे जीवन में पुस्तकों के महत्व (Importance of books) से जुड़ी सभी जानकारी आपके साथ साझा की गई है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए उपयोगी है।

पुस्तकों का महत्व

पुस्तकें: हमारी मित्र:- पुस्तकें हमारी मित्र हैं। वह हमारे लिए अपने अमृत कोष को न्यौछावर करने के लिए सदैव तैयार रहती हैं। अच्छी किताबें हमें रास्ता दिखाने के साथ-साथ हमारा मनोरंजन भी करती हैं। वे बदले में हमसे कुछ नहीं लेते हैं, न ही उन्हें परेशान करते हैं और न ही बोर करते हैं। उससे अच्छा साथी और क्या हो सकता है, जो केवल देने का अधिकारी हो, लेने का नहीं।

पुस्तकें : प्रेरणा के स्त्रोत:- पुस्तकें प्रेरणा का भण्डार होती हैं। इन्हें पढ़कर जीवन में कुछ महान कार्य करने की भावना जाग्रत होती है। महात्मा गांधी को महान बनाने में गीता, टॉलस्टॉय और थोरो का बहुत बड़ा योगदान है। 

भारत के स्वतंत्रता संग्राम को लड़ने में भी पुस्तकों की महत्वपूर्ण भूमिका थी। मैथिलीशरण गुप्त की 'भारत-भारती' को पढ़कर अनेक युवकों ने स्वतन्त्रता आन्दोलन में भाग लिया।

पुस्तकें : विकास का स्रोत:- पुस्तकें आज की मानव सभ्यता के मूल में हैं। पुस्तकों के माध्यम से एक पीढ़ी का ज्ञान दूसरी पीढ़ी तक पहुंचता है और युगों-युगों तक फैलता रहता है। 

पुस्तकें प्रकाशस्तंभ हैं जो समय के विशाल समुद्र में स्थापित किए गए हैं। यदि हजारों वर्ष पूर्व का ज्ञान अगले युग तक पुस्तकें न पहुँचती तो शायद वैज्ञानिक सभ्यता का जन्म ही न होता।

प्रचार-प्रसार के साधन:- पुस्तकें किसी भी विचार, संस्कृति या भावना के प्रचार-प्रसार का सबसे सशक्त माध्यम होती हैं। तुलसी के 'रामचरितमानस' और व्यास के महाभारत ने उनके युग और आने वाली सदियों को पूरी तरह से प्रभावित किया। 

आजकल विभिन्न सामाजिक आन्दोलन और विभिन्न विचारधाराएँ अपने प्रचार के लिए पुस्तकों को उपयोगी हथियार के रूप में अपनाती हैं।

मनोरंजन के साधन:- मनुष्य के मनोरंजन में भी पुस्तकें परम सहायक सिद्ध होती हैं। मनुष्य अपने एकाकी क्षणों को पुस्तकों के साथ व्यतीत कर सकता है। हम किताबों के मनोरंजन में अकेले हैं, 

इसलिए मनोरंजन का आनंद और गहरा है। इसलिए किसी ने कहा है - "पुस्तकें जीवित देवता हैं।" उनकी सेवा करने से तुरंत ही वरदान प्राप्त हो जाता है।

पुस्तकों का महत्व क्या है निबंध

किताबें व्यक्ति के जीवन का अहम हिस्सा बन गई हैं। उन्होंने व्यक्ति को सभ्य बनाने और जीवन के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यह मनुष्य का जीवन साथी है। किताबें सूचनाओं का भंडार होती हैं। 

वे व्यक्ति के जीवन में प्रकाश लाते हैं। यह जीवन में सही राह दिखाता है। यह व्यक्ति के जीवन से अज्ञानता के अंधकार को दूर करता है।

किताबें इंसानों की कभी न हारने वाली दोस्त होती हैं। आदमी जब भी उदास होता है तो किताबें उसका सहारा बन जाती हैं। वह अपनी मीठी बातों से लोगों का मनोरंजन करती हैं। 

इससे उनकी रोजमर्रा की बोरियत दूर हो जाती है। पुस्तकें जो आनंद देती हैं, वह अमिट छाप छोड़ती है। जब किसी व्यक्ति पर बुरा समय आता है 

तो उसके सभी रिश्तेदार और दोस्त उसका साथ नहीं देते हैं। किताबें हर अच्छे-बुरे वक्त में उसका साथ देती हैं। यह व्यक्ति को जीवन की परेशानियों को भूलने में मदद करता है।

पुस्तकें व्यक्ति के ज्ञान को समृद्ध करती हैं। पुस्तकों की सहायता से व्यक्ति पुराने समय की जानकारी प्राप्त कर सकता है। वह मानव सभ्यताओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है। 

वह वैज्ञानिक शोधों और महान लोगों के जीवन के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है। पुस्तकें पढ़ते हुए व्यक्ति इतिहास के विभिन्न कालों से होकर गुजरता है। वह उन विद्वानों से बात कर सकता है जो शारीरिक रूप से जीवित नहीं हैं लेकिन किताबों में जीवित हैं।

किताबें अच्छी और बुरी दोनों तरह की हो सकती हैं। अच्छी किताबें हमारा निर्माण करती हैं और बुरी किताबें हमें गलत रास्ता दिखाती हैं। कुछ पुस्तकें ऐसी भी हैं जो निम्न स्तर की मानसिकता दर्शाती हैं। 

वे बुराई और अन्याय का सामना करते हैं। लेकिन हमें अच्छी किताबें ही पढ़नी चाहिए। किताबें हमें जो ज्ञान का खजाना देती हैं, उसे चोर भी नहीं चुरा सकता। 

हमें किताबों के चुनाव पर ध्यान देना चाहिए। इस काम के लिए हमें अपने माता-पिता और शिक्षकों की मदद लेनी चाहिए।

पुस्तक का हमारे जीवन में क्या महत्व है?

किताबों से हमें ज्ञान मिलता है। किताबों के माध्यम से हम बहुत कुछ सीख सकते हैं। अच्छी किताबें हमारे लिए बहुत फायदेमंद होती हैं। इस प्रकार की किताबों से हमें अच्छी और नई चीजों की जानकारी मिलती है और हमारा ज्ञान बढ़ता है। अच्छी किताबें सबसे अच्छी दोस्त होती हैं। मैं हमेशा अच्छी किताबें पढ़ता हूं।

यद्यपि मैंने अनेक ग्रन्थ पढ़े हैं, फिर भी 'रामचरितमानस' ने मुझे बहुत प्रभावित किया है। यह न केवल एक धार्मिक पुस्तक है बल्कि एक साहित्यिक पुस्तक भी है। प्रत्येक हिन्दू इस ग्रंथ को देवता के समान पूजता है। 

यह अवधी भाषा में लिखा गया एक काव्य पाठ है। इसमें दोहे और दोहे हैं, जिन्हें गाया भी जाता है। इसके रचयिता गोस्वामी तुलसीदास हैं। हिन्दी साहित्य में उनका विशिष्ट स्थान है। 

वे एक भक्त कवि थे। इस पवित्र पुस्तक ने मुझे इतना प्रभावित किया है कि मैं इसका वर्णन नहीं कर सकता। यह एक साधारण किताब है। इसकी भाषा सरल है। 

यह एक बहुमूल्य और आदर्श ग्रंथ है। इस ग्रंथ में हमें आध्यात्मिक ज्ञान, कर्तव्य-पूर्ति, बड़ों का सम्मान और संकट में धैर्य की शिक्षा मिलती है।

प्रत्येक छात्र को अच्छी और शिक्षाप्रद पुस्तकों का अध्ययन करना चाहिए। इसका विद्यार्थियों के चरित्र निर्माण पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इस ग्रंथ को पढ़कर व्यक्ति धर्म के मार्ग पर चलना सीखता है। 

इसलिए मेरी दृष्टि में 'रामचरितमानस' बहुत अच्छा ग्रंथ है। 'रामचरितमानस' में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के चरित्र का वर्णन है। राम एक आदर्श पुरुष थे। वे लक्ष्मण और सीताजी सहित चौदह वर्ष तक वन में रहे। 

वे एक आदर्श राजा थे। उन्होंने प्रजा की बातों को बहुत महत्व दिया। राम का शासन आदर्श था, इसलिए उनके शासन को 'राम राज' कहा जाता है। सीता एक आदर्श महिला थीं। लक्ष्मण की देशभक्ति काबिले तारीफ है।

पुस्तकों का महत्व क्या है निबंध

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है जो एक ऐसे समाज में रहता है जिसमें उसे जीने के लिए बहुत सी चीजों का ज्ञान होना चाहिए। पुस्तकें हमें ज्ञान देती हैं, वे ज्ञान के सागर हैं। 

पहले किसी भी विषय के बारे में जानने के लिए गुरु या प्रजा ही मुख्य साधन थे, लेकिन अब सब कुछ किताबों में होता है, किताब पढ़ने से मनुष्य का सामाजिक और मानसिक विकास होता है।

पुस्तकें हमारी सच्ची मित्र हैं, वे हमें सभ्य बनने में मदद करती हैं। किताब हमारा मार्गदर्शन करती है। जब भी हम मुसीबत में होते हैं, किताब हमें रास्ता दिखाती है और हमें सलाह देती है। 

पुराने मंदिर और इतिहास की चीजें नष्ट हो जाती हैं लेकिन हमारी किताबों में सब कुछ बहुत सुरक्षित है ताकि हर व्यक्ति अपने इतिहास के बारे में जान सके और उस पर गर्व महसूस कर सके। 

गीता, रामायण आदि ग्रंथों को पढ़ने से मन को परम शांति का अनुभव होता है। आज के समय में पुस्तकें भारी मात्रा में उपलब्ध हैं। 

प्रत्येक विषय की अपनी पुस्तक होती है जिससे हम बिना किसी भ्रम के अपने पसंदीदा विषय के बारे में ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं। 

किताबें हमारे लिए बहुत उपयोगी होती हैं और उनमें लिखी हर बात जीवन के किसी न किसी पड़ाव पर जरूर काम आती है। पुस्तकों का हमारे जीवन में बहुत महत्व है, वे हमें संस्कृति और ज्ञान देकर हमें अच्छा इंसान बनाती हैं।

पुस्तकों के बिना मनुष्य बहुत सी बातों से अनभिज्ञ रहता है। हम जब चाहें हर विषय के बारे में पढ़ सकते हैं और इसके लिए हमें किसी व्यक्ति का इंतजार नहीं करना पड़ता। 

किताबें ज्ञान प्राप्त करने का सबसे आसान और सस्ता साधन हैं और इसके लिए हमें किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है।

पुस्तकें अमर होती हैं, वे कभी मरती नहीं हैं। कई प्राचीन पुस्तकों के लेखक तो चले गए लेकिन उनके द्वारा लिखे गए ग्रंथ आज भी जीवित हैं और हमारा मार्गदर्शन करते हैं। 

पुस्तक प्रत्येक व्यक्ति के व्यक्तित्व को निखारती है और उसके दृष्टिकोण में परिवर्तन भी लाती है। पुस्तक को पढ़ने वाले व्यक्ति को हर समस्या का समाधान मिल जाता है क्योंकि उसने अपनी स्थिति से मिलती-जुलती स्थिति के बारे में कहीं पढ़ा है। यह हमारा सहयोगी है। जब हम अकेले होते हैं तो किताबें भी हमारे लिए मनोरंजन का साधन बन जाती हैं।

Pustak Ka Mahatva Par 10 Lines | 10 Lines On Importance Of Books In Hindi Essay
  1. पुस्तकें हमारी सबसे अच्छी मित्र हैं, जो हमें अमूल्य ज्ञान देती हैं।
  2. किताबों को पढ़कर ही हम सही और गलत की पहचान कर सकते हैं।
  3. किताब पढ़ने से ही हमारी सोचने समझने की शक्ति बढ़ती है।
  4. एक अच्छी किताब हमें अच्छा इंसान बनाती है।
  5. किताबें पढ़कर हमें दूसरों की गलतियों से सीखने का भी मौका मिलता है।
  6. कहते हैं जो किताबों से दोस्ती कर लेता है उसे किसी और दोस्त की जरूरत नहीं होती।
  7. इस दुनिया में सब कुछ चुराया जा सकता है लेकिन ज्ञान को चुराया नहीं जा सकता।
  8. गीता और कुरान जैसी किताबों को पढ़कर हम खुद को बहुत करीब से जान सकते हैं।
  9.  पुस्तकों के ज्ञान से कोई भी व्यक्ति धनी और महान बन सकता है।
  10. जैसे भोजन आवश्यक है, वैसे ही हमारे मन के लिए पुस्तकों का ज्ञान आवश्यक है।

पुस्तक का हमारे जीवन में क्या महत्व है?

पुस्तकों का महत्व पर निबंध 800 शब्द में (Pustako ka Mahatva Essay in Hindi)

प्रस्तावना:-

किताबें पढ़ने जैसा सुख इस दुनिया में कोई नहीं दे सकता। किताबें पढ़ने से अविश्वसनीय आनंद और शांति की अनुभूति होती है। पुस्तकें विभिन्न प्रकार की सूचनाओं को संग्रहित करती हैं।

हमें केवल पुस्तकों में संग्रहित उपयोगी जानकारियों को अपने दैनिक जीवन में पढ़कर उन्हें अपने जीवन में उतारने की आवश्यकता है। कई पुस्तकों में महापुरुषों के व्यक्तिगत इतिहास हैं, जो हमारे प्रेरणास्रोत हैं। पुस्तकें जीवन के विभिन्न पड़ावों पर हमारी सबसे अच्छी सहायक होती हैं।

किताबें हमारी सबसे अच्छी दोस्त होती हैं:-

किताबें हमारे दिन-प्रतिदिन के अस्तित्व में हमारी सबसे अच्छी दोस्त हैं, वे हमें कभी भी अकेला महसूस नहीं होने देती हैं और हमारे सबसे करीबी साथी की तरह रहती हैं। 

जब भी हमें उनकी आवश्यकता होती है वे हमारे लिए उपलब्ध होते हैं। किताबें हमें अपने सामान्य परिवेश को समझने और अच्छे और बुरे के बीच अंतर करने में मदद करती हैं।

वह हमारी आदर्श साथी और कोच हैं। किताबों को समझकर हम अपने जीवन में कुछ अच्छी चीजें लेकर बेहतर बनते हैं। वे हमें अपने उद्देश्यों पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करते हैं और साथ ही उन्हें प्राप्त करने में पूर्ण सहयोग प्रदान करते हैं। हम में से बड़ी संख्या में लोग अपने खाली समय में किताबें पढ़ते हैं क्योंकि पढ़ने से मानसिक दबाव कम करने में मदद मिलती है।

यह हमें एक काल्पनिक दुनिया में ले जाती है और इसे पढ़कर हमें बहुत अच्छा लगता है। किताबें हमारी अंतर्दृष्टि और कल्पना को बढ़ाने में हमारी मदद करती हैं।

छात्रों के लिए पुस्तकों का महत्व:-

छात्र जीवन को संघर्षों से भरा और ज्ञान प्राप्त करने के लिए समर्पित जीवन माना जाता है। प्रत्येक छात्र को पुस्तकों को समझने की प्रवृत्ति सिखाई जानी चाहिए। चूंकि विद्यार्थी जीवन में ही व्यक्ति बनता है। इसलिए उन्हें अपने माता-पिता, शिक्षकों और बड़ों से किताबें पढ़ने के लिए प्रेरित करना चाहिए।

किताबों से दोस्ती करना उनके लिए सबसे आदर्श तरीका है। ऐसी कई पुस्तकें हैं, जिनमें कुछ अविश्वसनीय चरित्रों के जीवन का विवरण है। 

ये पुस्तकें छात्रों को उन व्यक्तियों के अस्तित्व के इतिहास से प्रेरित होने में मदद कर सकती हैं। वे उनका सम्मान करते हैं और उनसे प्रेरणा लेते हैं और अपने जीवन के उद्देश्य को पूरा करने के लिए जो कुछ भी आवश्यक होता है वह करते हैं। पढ़ने से एकाग्रता और फोकस में सुधार होता है, जो आमतौर पर एक छात्र के जीवन में आवश्यक होता है।

हर दिन कुछ घंटे पढ़ने से भाषा की समझ बढ़ती है और शब्दावली बनाने में मदद मिलती है। किताबें छात्रों को दुनिया के बारे में नई जानकारी, विचार और वास्तविकताओं को हासिल करने में मदद करती हैं। छात्र पुस्तकों को समझने के लिए उत्सुक हो जाते हैं।

एक छात्र को किताबों को समझने में मदद करने से एक अधिक पूर्ण व्यक्ति बनाने में भी मदद मिलती है। नैतिकता और सद्गुणों से ओतप्रोत महान पुस्तकों को पढ़ने से समझ में सुधार होता है और इस प्रकार वे समाज के जिम्मेदार और विचारशील व्यक्तियों के रूप में विकसित होते हैं।

क्या ई-पुस्तकें और इंटरनेट हमारे जीवन में पुस्तकों के महत्व को कम कर रहे हैं?

लोग सोचते हैं कि वेब का उपयोग करके और डिजिटल पुस्तकें डाउनलोड करके जानकारी प्राप्त करना आसान है। लेकिन मेरे हिसाब से किताबों की तरह डिजिटल किताबों को पढ़ना मुश्किल है। इसे डाउनलोड करने के लिए सेलफोन या कंप्यूटर के उपयोग की आवश्यकता होती है।

इन उपकरणों को चार्ज करने और इंटरनेट की आवश्यकता होती है। इनके बिना इनका काम नहीं चलेगा। दूसरी ओर, कागज की किताबें पढ़ने के लिए ऐसी किसी विशेष सुविधा की आवश्यकता नहीं होती है। 

हम किताब को कभी भी पढ़ सकते हैं और इसमें कुछ भी खर्च नहीं होता है। इसके लिए किसी तरह के इंटरनेट की जरूरत नहीं है। इसके अलावा, पढ़ने का आनंद कोई सीमा नहीं जानता।

किताब पढ़ना मूवी देखने से बेहतर क्यों है?

फिल्में देखना खुद को व्यस्त रखने का एक अच्छा तरीका है। लेकिन आमतौर पर एक फिल्म 2-3 घंटे की होती है और उसके बाद की जाती है। फिल्म देखने की तुलना में किताब पढ़ना स्पष्ट रूप से बेहतर है। जब हम किसी कहानी की किताब या किसी चरित्र को पढ़ते हैं तो यह फिल्मों में एक जैसी कहानियों को देखने से ज्यादा दिलचस्प होता है।

किताबें पढ़ने से हमारे दिमाग की एक्सरसाइज भी होती है। दिमाग मजबूत और स्वस्थ हो जाता है, जबकि फिल्मों में हमारा दिमाग उतना सक्रिय नहीं होता। किताब पढ़ना एक दिन में पूरा नहीं किया जा सकता। यह लंबे समय तक पढ़ा जाता है।

कहानी की किताब या उपन्यास पढ़ना हमारे लिए एक अविश्वसनीय रूप से दिलचस्प काम बन जाता है क्योंकि हम अलग-अलग हिस्सों को पूरा करते हैं। हम उस कहानी में इतने मग्न हो जाते हैं मानो वह कहानी वास्तव में घटित हो रही हो।

निष्कर्ष

किताबें पढ़ना एक अच्छी आदत है, जिसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। हम सभी को किताबों को समझने की प्रवृत्ति को बढ़ावा देना चाहिए। पुस्तकें हमें महत्वपूर्ण जानकारी देने के साथ-साथ हमें तेज, और अधिक बुद्धिमान बनाती हैं।

किताबें पढ़ने से हमारे जीवन में तनाव के लिए कोई जगह नहीं बचती और हमारी रचनात्मक क्षमता बढ़ती है। इन सभी विशेषताओं के कारण पुस्तकों का महत्व बहुत अधिक है।

अंतिम शब्द

हमने यहां छात्र जीवन में पुस्तकों के महत्व (Pustak ka Mahatva Essay in Hindi) को साझा किया है। आशा है आपको यह लेख पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। अगर इस लेख से सम्बंधित आपका कोई सवाल या सुझाव है तो मुझे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.